Dard Bhari Shayari |

🖤कम्बख्त इस ज़माने को 💔

सुकूँ कहाँ है कम्बख्त इस ज़माने में
एक एक शख़्स दिल लुभा रहा
दूसरे को सताने में…..💔….//

😪कहाँ ढूँढ़ते हो इश्क़ को😭

कहाँ ढूँढ़ते हो तुम इश्क़ 💝को ऐ-बेखबर
ये खुद ही ढून्ढ लेता है जिसे बर्बाद💔 करना हो …///

😰हर रोज तेरी यादें दिल से🤱

हर रोज तेरी 🤱यादें दिल से बाहर निकालता हूँ,
ठीक वैसे जैसे कोई समंदर से पानी😭निकालता हो !

😪बदलती चीजें हमेशा😪

बदलती चीजें हमेशा 😉अच्छी लगती है पर,
बदलते हुये अपने कभी अच्छे 🙄नहीं लगते……//

dard bhari shayari

🤱ह्रदय में सरलता और करुणा🤱

चाहे कितने भी भारी भारी शब्दों से
सजावट करके सुविचार भेज दे
यदि …..आंखों में स्नेह, होठों पर मुस्कान,
और ह्रदय में सरलता और करुणा नहीं
तो सब कुछ व्यर्थ है | 😭😭😭😭

🖤सब सो गए रात को🤱

सब सो गए रात को …… अपने दिल का हाल सुना कर✍🏻☺️
काश ,, तुम भी ख्वाब में आकर पूछ लेती .. अब तक सोये क्यों नहीं🌹🤝🏻

# दोस्त हमेशा सहारा देता #

जहाँ मोहब्बत धोखा देती है
दोस्ती वहाँ सहारा देती है।

🙄अब किसी और से निभा रही हो🙄

मोहब्बत थी हमसे, अब किसी और से निभा रही हो,
उससे भी सच्ची करती हो या सिर्फ चु*या बना रही हो।

😪नब्ज़ जांच लेना साहेब😪

नब्ज़ जांच लेना साहेब दफ़्न से पहले. .!
कलाकार उम्दा है,कहीं किरदार में न हो..!

🤱शायरी अधूरी है तेरी🤱

उसने कहा _शायरी अधूरी है तेरी,
मैंने कहा __जिसका इश्क़ अधूरा हो,
वो अल्फाज़ कहाँ से लाए……..///

😪दिल रोते रोते सो गया😪

सब कुछ पा कर भी लगता है जैसे कुछ खो गया है,
ख़्वाहिशों ज़रा धीरे मचलो दिल रोते रोते सो गया हैं…//

dard bhari shayari

🙄हर रात सो जाता हूँ🙄

हर रात सो जाता हूँ तुझे भूल जाने का इरादा लेकर,
मगर मेरी सुबह का आगाज़ मुमकिन ही नहीं तेरी याद के बगैर !!

🤱दिल बहलाने के लिये ही गुफ्तुगू🤱

दिल बहलाने के लिये ही गुफ्तुगू कर लिया करो जनाब,
मालूम तो मुझे भी है के हम आपको अच्छे नही लगते……!!